इंटर्न्स का ऑरीएंटेशन

देश के विभिन्न शिक्षण संस्थानों से अक़्सर कई विद्यार्थी लोकतंत्रशाला और मज़दूर किसान शक्ति संगठन के साथ संयुक्त इंटर्न्शिप के लिए आते हैं। इनके ऑरीएंटेशन कार्यक्रम में सैद्धांतिक और व्यावहारिक दोनों ही तरह का प्रशिक्षण शामिल होता है। इंटर्न्स अपनी इंटर्नशिप के शुरुआती दिन लोकतंत्रशाला में बिताते हैं जहाँ विषय-विशेषज्ञ उन्हें क़ानून, समाज और गाँवों के मुद्दों की एक सैद्धांतिक समझ देते हैं। इसमें मज़दूर किसान शक्ति संगठन द्वारा सूचना और रोज़गार के अधिकारों पर किए काम पर भी बातें होती हैं और क़ानूनी ढाँचे को समझने और नरेगा और सुनवाई के अधिकार जैसे क़ानूनों पर भी चर्चा होती है। साथ ही भेद-भाव, राजनैतिक अर्थव्यवस्था सम्बंधी मुद्दे, लिंग (जेंडर) सम्बंधी मुद्दे भी शामिल होते हैं। बाक़ी का समय अलग-अलग गाँवों में जाकर उन मुद्दों को समझने में बिताया जाता है जो लोग अपनी रोज़मर्रा की ज़िंदगी में झेल रहे होते हैं। यह या तो पद-यात्राओं के तौर पर किया जाता है या लोगों की शिकायतों को दर्ज कर उन्हें सरकारी अधिकारीयों के ध्यान में लाने के साथ किया जाता है। इंटर्न्स को नरेगा की वर्क-साइट्स पर ले जाकर उन्हें रोज़गार गारंटी योजना के कार्यन्वयं को देखने का मौक़ा भी मिलता है। पंचायत के दफ़्तरों में जाना और सरकारी तंत्र कैसे चलता है इसे समझना। साथ ही अन्य गतिविधियों में भी जोड़ा।

I'd like to attend/participate

 
Powered by ARForms   (Unlicensed)